Tuesday, December 18, 2012

दिल्ली तुझ पर थू थू थू

दिल्ली तुझ पर थू थू थू :  कविता वाचक्नवी


एक समय था जब रेल दुर्घटना हुई तो रेल मंत्री दायित्व लेते हुए त्यागपत्र दे देते थे, या इसी प्रकार किसी अन्य विभाग की व्यवस्था में खामी के चलते कोई दुर्घटना होने पर संबन्धित विभाग और मंत्रालय के शीर्ष नेता सारा दायित्व लेते हुए पदत्याग देते थे। विदेशों में अब भी कई बार ऐसे उदाहरण दीख जाते हैं, जैसे अभी अभी बीबीसी के महानिदेशक ने एक गलत समाचार प्रसारित होने के चलते अपना पद स्वेच्छा से छोड़ दिया। भारत में अब वह युग कदापि नहीं रहा। कोई नेता, मंत्री या अधिकारी दायित्व नहीं लेता और बेशर्मों की तरह डटा और चिपका रहता है, भले ही कुछ भी हो जाए। 
A protest in Delhi on 29 November 2010 against the gangrape

यह बेशर्मी राजनेताओं के स्तर पर ही मात्र नहीं है, अधिकारियों व नौकरशाहों के स्तर पर भी है और उस से भी आगे बढ़कर उनके सगे संबंधियों के स्तर पर भी। और तो और यह बेशर्मी अब आम आदमी के स्तर पर भी है क्योंकि ऐसी दुर्घटनाओं के बाद जब यदि कुछ लोगों का गुस्सा व आक्रोश निकलता है तो उस गुस्से व आक्रोश तक का विरोध करने के लिए लोग जुट जाते हैं कि समाज में ऐसी घटना का हमसे कुछ लेना देना नहीं है अतः जिसने किया है वह जाने ! कोई बचाव का एक तर्क लाता है और कोई इसके लिए दूसरा। कोई संस्कारों के महत्व पर परिचर्चा करवाने के तर्क देकर अपनी नपुंसकता दिखाता है और कोई अच्छी चीजों को देखने की समझाईश देकर अपना पल्ला झाड़ता है। गलत को गलत कहने का साहस तक लोगों में शेष नहीं। कल चलती बस में सामूहिक बलात्कार का शिकार हुई लड़की के समाचार पर आक्रोश के स्वर पढ़कर जिस तरह लोग इस दुर्घटना का विरोध करने वालों को ही समझाईश देते व कुतर्क करते नजर आए वह उनके लिए डूब मरने की बात है। 


यह बेशर्मी और यह गैरजिम्मेदारी शीर्ष से जड़ तक नहीं अपितु जड़ से शीर्ष तक गई है। इस बेहया समय और बेहया वातावरण में लोगों में इतना साहस तक नहीं बचा कि जो सच्चे मन से मान सकें कि हाँ धिक्कार है हमें और हमारी समूची नस्ल को जो ऐसे अमानवीय कार्य करते हैं और करने के बाद उस पर शर्म से लज्जित होने के बजाय, और यदि लज्जा भी नहीं तो मात्र विरोध करने की बजाय, विरोध करने वालों को ही उलटे धिक्कारते और नपुंसक बहानेबाजी करते तरह तरह के कुतर्क करते है। 
इस बेशर्मी व चालाक तर्कों वाली बुद्धि और शिक्षा को धिक्कार है


Related Posts with Thumbnails

Followers