Thursday, November 20, 2008

मेरे गीत : मेरे स्वर

मेरे गीत : मेरे स्वर

आज सुनिए मेरी एक पुरानी रचना मेरे ही स्वर में| रेकोर्डिंग व ध्वनि संपादन का सारा श्रेय जाता है मेरे सबसे छोटे बेटे उद्गाता अनघ (UDGATA ANAGH) को, ..... अपने अति व्यस्त शेड्यूल से समय निकाल कर अंततः उसे यह काम करना पड़ा था|













Related Posts with Thumbnails

Followers