Saturday, November 22, 2008

साहित्य अकादमी का बहुभाषी कवि सम्मेलन व त्रिदिवसीय साहित्य समारोह : शुभकामनाओं की आशा

साहित्य अकादमी का बहुभाषी कवि सम्मेलन व त्रिदिवसीय साहित्य समारोह

साहित्य अकादमी का बहुभाषी कवि सम्मेलन त्रिदिवसीय साहित्य समारोह


























































साहित्य अकादमी (साउथ ज़ोन) और सिद्धार्थ कलापीठम (विजयवाड़ा) के संयुक्त तत्वावधान में 25.26 व 27 नवम्बर को सिद्धार्थ ऒडिटोरियम (विजयवाड़ा) में त्रिदिवसीय साहित्य समारोह व पुस्तक प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है।


समारोह का उद्घाटन सिद्धार्थ कलापीठम के अध्यक्ष पी.एल.एन.प्रसाद करेंगे। इस अवसर पर अकादमी के तेलुगु परामर्शंमंडल के सदस्य डॊ.कुटुम्बराव मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे।


इसी दिन अपराह्न 4.30 बजे से बहुभाषी कविसम्मेलन सम्पन्न होगा। जिसकी अध्यक्षता डॊ. नागल्ला गुरुप्रसाद राव तथा संचालन डॊ. तंगिराला वेंकट सुब्बाराव करेंगे । स्वागत साहित्य अकादमी के क्षेत्रीय सचिव ए.एस. इलांगोवन करेंगे।


बहुभाषी कविसम्मेलन में हिन्दी का प्रतिनिधित्व डॊ. कविता वाचक्नवी, उर्दू का जमीला निशात अंग्रेज़ी का प्रतिनिधित्व प्रो. जी. मोहन रमणन करेंगे।


इनके अतिरिक्त असमिया का प्रतिनिधित्व अर्चना पुजारी और उदय कुमार शर्मा, कन्नड़ का संध्या रेड्डी और ज़ुंज़ुरवाड़ , तेलुगु का रोहिणी सत्या और जुपाले प्रेमचा, तमिल का वैगई सेल्वी और ईरोड तमिल्बन एवं मलयालम का प्रतिनिधित्व रफ़ीक अहमद और के. आर टोनी द्वारा किया जाएगा ।


समारोह के दूसरे दिन डॊ.तंगिराला वेंकटसुब्बाराव अपने समकालीन तेलुगु कवि देवरकोंडा बालगंगाधरतिलक के सम्बन्ध में अपने संस्मरण प्रस्तुत करेंगे। तीसरे दिन लोक साहित्य और लोक नाट्यों की प्रस्तुतियाँ होंगी, जिनमें महाभारत के प्रसंगों का मंचन उल्लेखनीय है। गोल्लकथा भी प्रस्तुत की जाएगी।

तीनों दिन प्रात: 11 बजे से रात्रि 8 बजे तक अकादमी के प्रकाशनों की प्रदर्शनी भी आयोजित की जाएगी जो निश्चय ही पुस्तकप्रेमियों के लिए आकर्षण का केन्द्र होगी।


हिन्दी के प्रतिनिधित्व के अपने दायित्व के लिए आप सभी की शुभकामनाओं की आशा है |

- कविता वाचक्नवी




Related Posts with Thumbnails

Followers